mutual funds: Home mutual funds proceed to be internet consumers in equities in June


सेबी के आंकड़ों से पता चलता है कि द्वितीयक बाजार में घरेलू फंड प्रबंधकों द्वारा इक्विटी की सकल खरीद जून में 83,006 करोड़ रुपये तक पहुंच गई, जो कि पांच साल के औसत 58,187 करोड़ रुपये थी। मार्च 2020 में 1.2 लाख करोड़ रुपये के बाद जून में एक महीने में सकल खरीद दूसरी सबसे अधिक है।

म्यूचुअल फंड के इक्विटी एक्सपोजर में सेकेंडरी मार्केट में ट्रेड के लिए इक्विटी फंड, इंडेक्स फंड, एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) और बैलेंस्ड फंड शामिल हैं। विदेशी फंडों द्वारा बिकवाली के बीच घरेलू फंडों ने आवंटन बढ़ाने का फैसला किया। बढ़ी हुई खरीद ने जून 2021 में स्थानीय फंडों के सकल खरीद-मोचन अनुपात को 1.08 तक बढ़ा दिया, जो कि 1.06 के दीर्घकालिक औसत से थोड़ा बेहतर था, जो आसान मोचन दबाव को दर्शाता है।

जून में स्थानीय फंडों द्वारा इक्विटी में शुद्ध तैनाती 6,437 करोड़ रुपये थी, जो 13 महीनों में सबसे अधिक है। यह लगातार चौथा महीना था जब स्थानीय फंड इक्विटी में शुद्ध खरीदार थे। 17,212 करोड़ रुपये का उनका संचयी शुद्ध निवेश उक्त अवधि में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों द्वारा 15,083 करोड़ रुपये के प्रवाह से थोड़ा अधिक था।

एनएसडीएल के आंकड़ों के अनुसार, निरंतर फंड की तैनाती और पूंजी की सराहना के परिणामस्वरूप, स्थानीय फंडों की प्रबंधन के तहत इक्विटी संपत्ति (एयूएम) जून 2021 में बढ़कर 16.6 लाख करोड़ रुपये हो गई, जो एक साल में 55% की बढ़त है। . यह भारतीय इक्विटी के कुल बाजार पूंजीकरण का 7.6% था।

.



Source link