Muthoot Finance This autumn revenue up 22% at Rs 996 cr


मुंबई: गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी (एमएफआईएन) ने बुधवार को मार्च 2021 तक तीन महीने के लिए 996 करोड़ रुपये के कर के बाद स्टैंडअलोन लाभ में 22 प्रतिशत की छलांग लगाई।

कंपनी ने एक साल पहले की अवधि में 815 करोड़ रुपये के कर के बाद एक स्टैंडअलोन लाभ पोस्ट किया था।

पूरे वर्ष के लिए, स्टैंडअलोन शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2015 में 3,018 करोड़ रुपये के मुकाबले 23 प्रतिशत बढ़कर 3,722 करोड़ रुपये हो गया।

“हमने पिछले वर्ष के दौरान अच्छी व्यावसायिक वृद्धि देखी है, विशेष रूप से दूसरी और तीसरी तिमाही में। महामारी के बाद, गोल्ड लोन की बहुत मांग थी।

“हर कोई अपने व्यवसाय को फिर से शुरू करना चाहता था और त्वरित धन चाहता था, यही वजह है कि स्वर्ण ऋण की मांग बढ़ी,” इसके प्रबंध निदेशक जॉर्ज अलेक्जेंडर मुथूटी कहा हुआ।

पिछले वर्ष में 22 प्रतिशत की वृद्धि की तुलना में ऋणदाता वित्त वर्ष २०११ में अपनी परिसंपत्ति प्रबंधन (एयूएम) के तहत स्वर्ण ऋण खंड में २७ प्रतिशत की वृद्धि करने में सक्षम था।

मार्च 2021 के अंत तक प्रबंधन के तहत स्वर्ण ऋण 51,926.6 करोड़ रुपये था। वित्त वर्ष 21 की चौथी तिमाही के दौरान, स्वर्ण ऋण संपत्ति में 2,304 करोड़ रुपये की वृद्धि हुई।

वित्त वर्ष २०११ में कर के बाद समेकित लाभ २१ प्रतिशत बढ़कर ३,८१९ करोड़ रुपये हो गया, जबकि पिछले साल यह ३,१६९ करोड़ रुपये था।

समूह की समेकित ऋण संपत्ति वित्त वर्ष 2015 में 46,871 करोड़ रुपये के मुकाबले 24 प्रतिशत बढ़कर 58,280 करोड़ रुपये हो गई।

समीक्षाधीन तिमाही के दौरान कुल आय 18 प्रतिशत बढ़कर 2,828 करोड़ रुपये हो गई, जो पहले 2,403 करोड़ रुपये थी।

सकल ऋण परिसंपत्तियों पर इसकी सकल एनपीए या स्टेज -3 संपत्ति 2.16 प्रतिशत के मुकाबले बढ़कर 0.88 प्रतिशत हो गई।

मार्च 2021 के अंत तक सकल ऋण परिसंपत्तियों के प्रतिशत के रूप में अपेक्षित ऋण हानि (ईसीएल) प्रावधान 1.19 प्रतिशत था।

पूंजी पर्याप्तता अनुपात 25.47 प्रतिशत से बढ़कर 27.44 प्रतिशत हो गया।

मुथूट ने कहा कि अप्रैल के पहले 15 दिन कारोबार के लिहाज से ठीक थे लेकिन उसके बाद मई में शाखाएं बंद होने से मांग प्रभावित हुई।

उन्हें उम्मीद है कि इस महीने के अंत तक मांग में सुधार होगा।

उन्होंने कहा, ‘इस महीने के अंत तक कारोबार फिर से शुरू हो जाएगा। जब कारोबार शुरू होगा तो लोगों को पैसे की जरूरत होगी और निश्चित तौर पर पिछले साल की तरह गोल्ड लोन में तेजी आएगी।’

मुथूट को वित्त वर्ष 2021-22 में एयूएम में 15 फीसदी की वृद्धि की उम्मीद है।

उन्होंने कहा, “आम तौर पर, हम 15 प्रतिशत का मार्गदर्शन देते हैं, लेकिन पिछले तीन वर्षों में हम इससे अधिक करने (बढ़ने) में सक्षम हैं। इस वर्ष, हमारा मार्गदर्शन भी 15 प्रतिशत है, लेकिन इससे आगे निकल जाएगा।”

एमएफआईएन की हाउसिंग फाइनेंस सब्सिडियरी मुथूट होमफिन (इंडिया) लिमिटेड (एमएचआईएल) ने वित्त वर्ष २०११ में शुद्ध लाभ में १३ करोड़ रुपये की गिरावट दर्ज की, जबकि पिछले साल ३२ करोड़ रुपये थी।

31 मार्च, 2021 को सकल ऋण परिसंपत्ति पर इसकी स्टेज -3 संपत्ति 4 प्रतिशत थी और स्टेज -3 ईसीएल प्रावधानों का शुद्ध 2.78 प्रतिशत था।

इसकी माइक्रोफाइनेंस शाखा बेलस्टार माइक्रोफाइनेंस का कर पश्चात लाभ वित्त वर्ष २०११ में ४७ करोड़ रुपये रहा, जबकि पिछले वर्ष यह ९९ करोड़ रुपये था।

बुधवार को बीएसई पर कंपनी का शेयर 8.06 फीसदी की तेजी के साथ 1,414 रुपये पर बंद हुआ।

.



Source link